वेब इनफोर्मेसन लीडर

श्रीमती अल्पना सिन्हा,
सहायक श्रम आयुक्त
ईमेल:bocjhr@gmail.com
दूरभाष : 0651-2480049
फैक्स : 0651-2480049


nic

मुख्य पृष्ठ >> निर्माण श्रमिकों का वर्गीकरण

निर्माण श्रमिकों का वर्गीकरण

  उपर्युक्त कोटि के कामगारों के अतिरिक्त झारखण्ड राज्य में भवन एवं अन्य सन्निर्माण कार्य से जुडे ३७ श्रेणियों को निर्माण श्रमिक (Building Workers) के रूप शामिल किए गये हैं-

(१) पत्थर काटने, तोड़ने व पीसने वाला (२) राज मिस्त्री (मैसन) या ईटों पर रद्दा करने वाले (३) पोताई करने वाले (पेन्टर) (४) बढ़ई (कारपेन्टर) (५) फीटर या बार बैंडर (६) सड़क के पाईप मरम्मत कार्य में लगे पलम्बर (७) इलेक्ट्रीषियन (८) मैकेनिक (९) कुऍं खोदने वाले (१०) वेल्डिंग करने वाले (वेल्डर) (११) मुख्य मजदूर (१२) स्प्रेमैन या मिक्सर मैन (सड़क बनाने में लगे) (१३) लकड़ी या पत्थर पैक करने वाले (१४) कुऍ से गाद (तलछट) हटाने वाले गोताखोर (१५) हथौड़ा चलाने वाले (१६) छप्पर डालने वाले (१७) मिस्त्री (१८) लोहार (१९) लकड़ी चीरने वाले (२०) कॉलकर (२१) मिश्रण करने वाले (२२) पम्प ऑपरेटर (२३) मिक्सर चलाने वाले (२४) रोलर चलाने वाले (२५) बड़े यांत्रिक कार्य जैसे- मच्चीनरी, पुल का कार्य आदि में लगे खलासी (२६) चौकीदार (२७) मोजाईक पॉलिश करने वाले (२८) सुरंग कर्मकार (२९) संगमरमर/कड़प्पा पत्थर कर्मकार (३०) सड़क कर्मकार (३१) चट्टान तोड़ने वाले या खनिज कर्मकार (३२) संनिर्माण कार्य में जुडे मिट्टी कार्य करने वाले (३३) चूना बनाने की प्रक्रिया में लगा कर्मकार (३४) बाढ़ नियोजन में लगे कोई अन्य प्रवर्ग के कर्मकार (३५) बॉंध, पुल, सड़क या किसी भवन सन्निर्माण संक्रिया के नियोजन में लगे कोई अन्य प्रवर्ग के कर्मकार (३६) कारखाना अधिनियम, १९४८ का केन्द्रीय अधिनियम (६३) के अधीन ईंट बनाने में लगे कर्मकार से भिन्न कर्मकार एवं (३७) पंडाल सन्निर्माण में लगे कर्मकार।